Overblog
Edit post Follow this blog Administration + Create my blog
hakikatjamanekinews.over-blog.com

राम नगरी अयोध्या में भूमि पूजन पर वानर सेना को प्रशासन देगा फल और चने की दावत


अयोध्या : मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम की पावन धर्म नगरी अयोध्या भूमि पूजन के दिन लंका विजय में प्रभु राम की सहयोगी रही वानर सेना की भी खातिरदारी की जाएगी। प्रशासन की ओर से उन्हें फल और चने की दावत दी जाएगी।
इस आशय के निर्देश मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को दिए हैं। यह व्यवस्था इसलिए की जा रही है ताकि आयोजन स्थल और पीएम की सुरक्षा में बंदरों की दखल से व्यवधान पैदा न होने पाए। खास बात ये है कि वानरों को दावत उनके क्षेत्र में जाकर दी जाएगी, जिसके लिए अलग से कर्मी भी तैनात होंगे। रामनगरी में वानर सेना की मौजूदगी हर स्थान पर देखी जाती है। भोजन की तलाश में बंदर रामनगरी के चप्पे-चप्पे पर नजर आते हैं। श्रद्धालु भी इनकी खूब सेवा करते हैं। यही वजह है कि रामनगरी में वानर अधिक संख्या में देखे जाते हैं। भूमि पूजन के दिन इंसानों को तो रोकने की योजना प्रशासन ने बना ली, लेकिन वानरों को रोकने के लिए उनका प्रिय खाद्य पदार्थ मुहैया कराने की रणनीति बनानी पड़ी।हिन्दू महासभा ने समस्त कार्यकर्ताओं से 5 अगस्त 2020 को अपने देवालय , घर , कार्यालय और प्रतिष्ठान में दीपोत्सव कर राम नगरी में भूमि पूजन का उत्सव मनाने का आह्वान किया
                 ब्यूरो रिपोर्ट - अजय कुमार मांझी
अयोध्या : मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम की पावन धर्म नगरी अयोध्या अखिल भारत हिन्दू महासभा ने अपने देश भर के कार्यकर्ताओं से अपने अपने देवालय , घर , कार्यालय और प्रतिष्ठान में 5 अगस्त को दीपोत्सव कर श्रीराम जन्मभूमि पर भूमि पूजन एवं शिलान्यास का महा उत्सव मनाने का आह्वान किया है ।
हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष रविन्द्र कुमार द्विवेदी ने राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वामी त्रिदंडी जी महाराज के निर्देश पर कार्यकर्ताओं के नाम जारी संदेश में कहा कि सभी कार्यकर्ता दीपोत्सव के साथ राम नाम का पाठ कर श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण के शिलान्यास का स्वागत करें । उन्होंने कहा कि श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट द्वारा भूमि पूजन कार्यक्रम में अखिल भारत हिन्दू महासभा की उपेक्षा राजनीतिक दुर्भावना से प्रेरित है । मंदिर निर्माण के धुर विरोधी बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी को भूमि पूजन में आमंत्रित करना अखिल भारत हिन्दू महासभा और सनातन धर्मियों को अपमानित करना है , जिसके विरोध में वो 31 जुलाई को की गई घोषणा के अनुसार 5 अगस्त को अयोध्या में आत्मदाह करने की घोषणा पर अडिग हैं और वो अपने समर्थकों के साथ अयोध्या पहुंच रहे हैं ।
रविन्द्र कुमार द्विवेदी ने कहा कि सनातन समाज के लिए 5 अगस्त का दिन दीपावली पर्व के समान महत्वपूर्ण है । हिन्दू महासभा हर वर्ष 5 अगस्त को भी दीपावली का पर्व मनाया करेगी , क्योंकि यह दिवस अखिल भारत हिन्दू महासभा द्वारा फैजाबाद न्यायालय से सर्वोच्च न्यायालय तक 70 वर्ष की लंबी न्यायिक लड़ाई के बाद प्राप्त हुआ है 
रविन्द्र कुमार द्विवेदी ने कहा कि 5 अगस्त को अयोध्या में उनके आत्मदाह की घोषणा भूमि पूजन और शिलान्यास के विरोध में नहीं है और न ही केंद्र सरकार तथा राज्य सरकार के विरोध में है । उनकी घोषणा अखिल भारत हिन्दू महासभा के सम्मान और गौरव की रक्षा में की गई है । यदि उनके बलिदान से हिन्दू महासभा के सम्मान और गौरव की रक्षा होती है तो उनका जीवन सार्थक सिद्ध हो जाएगा । उन्होंने कहा कि उन्हें श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट से भूमि पूजन में हिन्दू महासभा के नाम आमंत्रण की अभी भी प्रतीक्षा है
यह जानकारी हिन्दू महासभा अयोध्या जिलाध्यक्ष राकेश दत्त मिश्र ने दी।राम नगरी अयोध्या में 5 अगस्त 2020 प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा भूमि पूजन व शिलान्यास के उपलक्ष्य में जगह जगह रामचरितमानस वअखंड पाठ का आयोजन किया जा रहा है
ब्यूरो रिपोर्ट - अजय कुमार मांझी

*अयोध्या : जनपद अयोध्या , विकासखंड अमानीगंज के विभिन्न विभिन्न जगहों पर श्री रामचरितमानस का पाठ व अखंड पाठ का आयोजन चल रहा है और लोग बड़े हर्षोल्लास के साथ और बड़ी धूमधाम के साथ अखंड पाठ का आयोजन करवा रहे हैं और विशेष रूप से ब्लॉक मंडल अध्यक्ष देवेंद्र प्रताप* *सिंह की अध्यक्षता में और जनता के सहयोग से बाबा का गहनाग देव के आश्रम पर श्रीरामचरितमानस अखंड का पाठ का आयोजन किया गया है और भाजपा के तहसील मंडल अध्यक्ष श्री चंद बली सिंह की अध्यक्षता में बाबा* *बामदेव ऋषि आश्रम पर

श्री रामचरितमानस पाठ एवं बहादुरगंज चौराहे पर भाजपा के प्रभारी बंशीधर शर्मा के नेतृत्व में श्री रामचरितमानस अखंड पाठ का आयोजन किया गया और अमानीगंज बाजार में जितेंद्र सिंह उर्फ बब्लू सिंह प्रधान डूडी प्रधान मोहम्मदपुर बब्लू सिंह उदय प्रताप सिंह प्रतिनिधि के द्वारा अमानीगंज मार्केट मे
*रामचरितमानस का पाठ का आयोजन किया गया विजय शुक्ला भाजपा के सक्रिय कार्यकर्ता प्रधान पद के भाभी प्रत्याशी रेवली ने अपने ही दरवाजे पर श्री रामचरितमानस अखंड का पाठ और प्रसाद का* *वितरण करवाया कुछ लोग आज की तारीख में कर रहे हैं कुछ लोग काल की तारीख में भजन कीर्तन पाठ करके प्रसाद का वितरण कर रहे है प्रधान* *मोहलीअमित सिंह के नेतृत्व में और जनता के सहयोग से बाबा संत भीखा दास की तपोस्थली भूमि पर श्री रामचरितमानस का पाठ अंखड पाठ का आयोजन और कीर्तन* *भजन का आयोजन लोग गांव स्तर पर भी कर रहे हैं और लोग अपने अपने घरों और मंदिरों पर गांव में सुंदर पाठ का आयोजन का कार्यक्रम गांव स्तर पर बड़े भव्य तरीके से लोग* *आयोजन कर रहे हैं और लोग गांव के मंदिरों पर और मठों पर अपने अपने दरवाजे पर* *सुंदरकांड का पाठ श्री राम स्तुति वाचन के उपरांत घंटा घड़ियाल बजाकर प्रसन्नता व्यक्त कर रहे हैं और प्रत्येक घर पर प्रसाद का* *वितरण कार्य हो रहा है कई वर्षो से* *लंबी लड़ाई लड़ने के बाद* *भाजपा सरकार ने अयोध्या धाम* *में प्रभु श्री राम श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा श्री राम जन्म भूमि मंदिर का भव्य दिव्य मंदिर निर्माण का सपना साकार हो रहा है जिसका भूमि पूजन देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 5 अगस्त को 2020 को संपन्न होना है यह* *क्षण और यह पल याद गार और जीवन का गौरव मयी क्षण होगा सब लोग इस महोत्सव में भागीदार बंद करके भाजपा के सक्रिय कार्यकर्ता विजय शुक्ला द्वारा भव्य मंदिर शिलान्यास के उपलक्ष में ग्राम पंचायत अटेसर में बडे जोर जोर शोर से* *तैयारी चल रही है*अयोध्या धाम की कूच करने की तैयारी है विजय शुक्ला द्वारा जनता को जागरूक किया जा रहा है और गांव में हर घर घर में छत के उपर पर श्री राम का झंडा फा रहा है*
अयोध्या में बोले सीएम योगी- कांग्रेस ने कभी नहीं चाहा कि राम मंदिर का शिलान्यास हो



अयोध्या : मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम के पावन धाम नगरी अयोध्या उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का भूमि पूजन टालने की कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह की सलाह पर कड़ी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए सोमवार को कहा कि कांग्रेस कभी नहीं चाहती थी कि राम जन्मभूमि पर मंदिर का शिलान्यास हो।
आगामी पांच अगस्त को होने वाले शिलान्यास कार्यक्रम की तैयारियों का जायजा लेने अयोध्या पहुंचे योगी ने संवाददाताओं से बातचीत में दिग्विजय की सलाह के बारे में पूछे जाने पर कहा, 'कांग्रेस राम जन्मभूमि पर मंदिर का शिलान्यास कभी नहीं चाहती थी। कांग्रेस इस विवाद का पटाक्षेप नहीं चाहती थी। जब उच्चतम न्यायालय में मामला गया था तब कांग्रेस के ही एक नेता ने उच्चतम न्यायालय में याचिका दी थी कि इस समस्या का समाधान 2019 से पहले ना होने पाए।'
मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस को अपने इतिहास में झांकना चाहिए। उन्होंने कहा कि अयोध्या में राम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण का काम आजादी के फौरन बाद सोमनाथ मंदिर के पुनरुद्धार के साथ शुरू हो सकता था, लेकिन जब लोगों के लिए देश से ज्यादा महत्वपूर्ण सत्ता हो जाती है तो वे लोग अपनी राजनीतिक इच्छाओं के लिए जन भावनाओं के साथ खिलवाड़ करते हैं। समाज को जाति, मत और मजहब के आधार पर बांटते हैं।

'राम मंदिर निर्माण से छद्म धर्मनिरपेक्षता समाप्त हो जाएगी'

योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव, 2017 के विधानसभा चुनाव और 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले कहा था कि संविधान के दायरे में रहकर ही राम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त करेंगे। उन्होंने कहा कि नौ नवंबर 2019 की तिथि ऐतिहासिक है जब अयोध्या में राम जन्मभूमि पर राम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त हुआ। योगी ने कहा कि अब मंदिर निर्माण से छद्म धर्मनिरपेक्षता और जाति, मत, मजहब की राजनीति हमेशा के लिए समाप्त हो जाएगी।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने सोमवार को एक ट्वीट में कहा कि मैं मोदी जी से फिर अनुरोध करता हूं 5 अगस्त के अशुभ मुहूर्त को टाल दीजिए। सैकड़ों वर्षों के संघर्ष के बाद भगवान राम मंदिर निर्माण का योग आया है अपनी हठधर्मिता से इसमें विघ्न पड़ने से रोकिए।

'यह हमारे लिए ऐतिहासिक और भावनात्मक घड़ी है'

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या में लगभग 500 वर्षों की परीक्षा के परिणाम के बाद भगवान श्री राम के भव्य मंदिर की आधारशिला रखेंगे। यह हमारे लिए ऐतिहासिक और भावनात्मक घड़ी है। साथ ही एक नए भारत की आधारशिला रखने का एक नया अवसर भी है। इसी दृष्टि से यहां के कामों का अवलोकन करने के लिए खुद आया हूं।
उन्होंने कहा कि शिलान्यास का आयोजन श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास का है लेकिन उस कार्यक्रम में हर तरह के सुरक्षा इंतजाम को देखने के लिए हम यहां आए हैं। स्वाभाविक रूप से कहीं भी कोई कोताही न बरती जाए हमने इसकी तैयारी पूरी तत्परता से की है। योगी ने कहा कि कोविड-19 के प्रोटोकॉल को लागू करना मुख्य बात है और प्रशासन इस बात को ध्यान में रखकर ही काम कर रहा है। अयोध्यापुरी में आगमन के लिए आज शाम से वे ही लोग आएंगे जो आमंत्रित हैं। बाकी श्रद्धालुजन का प्रतिनिधित्व खुद प्रधानमंत्री करेंगे।
उन्होंने कहा कि बाकी सभी श्रद्धालुओं से अपील है कि इस ऐतिहासिक क्षण के साथी बनने के लिए आवश्यक है कि हम चार और पांच अगस्त को अपने घरों में दीप जलाएं। धर्माचार्यगण मंदिरों को खासतौर पर सजाएं, मंदिरों में दीपोत्सव का कार्यक्रम आयोजित करें। अखंड रामायण का पाठ करें और अपने उन सभी पूर्वजों का स्मरण करें जिन्होंने श्री राम जन्म भूमि के लिए अपना बलिदान दिया था। योगी ने यह भी कहा कि कोविड-19 का संकट गुजरने के बाद हमारा प्रयास होगा कि हम श्री राम जन्मभूमि तीर्थ न्यास के साथ मिलकर देश-प्रदेश के भी हर जिले से व्यवस्थित रूप से श्रद्धालुओं को अयोध्या लाने के लिए एक विस्तृत कार्यक्रम शुरू करेंगे।*धर्मनगरी अयोध्या में कायस्थ सेवा समाज द्वारा भव्य राम मँदिर के निर्माण का दीप महोत्सव का शुभारंभ*
                               - अजय कुमार मांझी

 


अयोध्या॥ कायस्थ सेवा समाज ने आज भव्य राम मँदिर के निर्विघ्न निर्माण के दीप उत्सव का प्रारम्भ रामघाट अयोध्या स्थित तपस्वी जी की छावनी पर जगद्गुरु परमहंस आचार्य के आचार्यत्व में प्रारंभ किया। *कायस्थ सेवा समाज* के अध्यक्ष विजेश श्रीवास्तव ने कहा कि 5 अगस्त को मंदिर निर्माण की शुरुआत देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के द्वारा शुरू होने की खुशी में आज से दीप महोत्सव की शुरुआत कर दी गई है। जगद्गुरु परमहंस आचार्य ने कहा कि अयोध्या में यह दीप उत्सव उसी प्रकार मनाया जायेगा जिस तरह प्रभु श्रीराम के वनवास से लौटने पर मनाया गया था। दीप उत्सव में 5001दीपक जलाये गये और 108 भगवा ध्वज लहराए गये। *कायस्थ सेवा समाज* के कोषाध्यक्ष के0सी0 श्रीवास्तव ने कहा कि अयोध्यावासियों के मन में आज बहुत उत्साह का वातावरण है। अयोध्या में सभी राममय हैं। इस अवसर पर संस्था के श्याम जी श्रीवास्तव युवा साथी अर्पित श्रीवास्तव, प्रीतम के साथ साथ कई साथी सोशल डिस्टेन्सिन्ग के साथ उपस्थित रहे।
अजय कुमार मांझी

Share this post
Repost0
To be informed of the latest articles, subscribe:
Comment on this post

Richard Murray 08/06/2020 03:58

दिलचस्प है कि कोरोनोवायरस के दौरान इस तरह की साज़िश चल रही है। यह श्री लंका में कैसा है?///Interesting that this sort of intrigue is going on during the coronavirus. how is it in sri lanka?